We are Best in town With 40 years of Experience.

डॉ. मनोज शर्मा ( व्यक्तित्व एवं कृतित्व )

Welcome to

डॉ. मनोज शर्मा ( व्यक्तित्व एवं कृतित्व )

डॉ. मनोज शर्मा ( व्यक्तित्व एवं कृतित्व )

1. डॉ. मनोज शर्मा का जन्म झालावाड़ जिले के खानपुर में दिनांक 13/01/1969 को एक सामान्य परिवार में हुआ द्य आपने ने राजस्थान विश्व विद्यालय से आयुर्वेद स्नातक कर आयुर्वेदाचार्य की उपाधि प्राप्त कर बोर्ड ऑफ इंडियन मेडिसिन जयपुर राजस्थान से “ अ ” श्रेणी आयुर्वेद चिकित्सक के रूप में पंजीकृत है।

2.डॉ. मनोज शर्मा वैद्यकीय शिक्षा में स्नातक शिक्षा ग्रहण कर “आयुर्वेदाचार्य” की उपाधि से विभूषित है, आपने कठोर परिश्रम कर “आयुर्वेदिक न्यूरो थेरेपी ” नामक विधा का स्वयं अविष्कार कर अस्थि संधि ( Joint Pain ), स्नायु बंधन ( Ligament) , तथा पृष्ठ वंशीय ( Spinal Cord ) तंत्रिका तंत्र ( Nerves System ) से सम्बन्धित रोगियों के कल्याण का मार्ग प्रशस्त किया है ।

3. डॉ. मनोज शर्मा 1997 से निरंतर रोगियों को चिकित्सा सेवा देते हुए 2004 में राजकीय आयुर्वेद चिकित्सक के रूप में चयनित होकर चिकित्सा सेवा देते रहे किन्तु चिकित्सा कार्य में अत्यधिक व्यस्तता के चलते रोगियों के हित में आपने सन 2017 में राजकीय सेवा से स्वेच्छिक सेवा निवृति लेकर समर्पित भाव के साथ पूर्ण मनोयोग से सेवारत है ।

4. डॉ. मनोज शर्मा के पास इनकी विशिष्ठ विधा का चिकित्सकीय लाभ लेने के लिए रोगी सम्पूर्ण भारत वर्ष के दूर - दराज क्षेत्रों से तो आते ही है साथ ही विदेश में रह रहें अप्रवासी भारतीयों के अतिरिक्त विश्व के विभिन्न देशों के तंत्रिका तंत्रीय (Neuro System) पृष्ठ वंशीय (Spine) एवं अस्थि संधि (Joint Pain) और जटिल वात ( Holl Body Pain like as Rhumotoid Arthrites or other Masculer Pain ) रोगों से पीड़ित रोगियों ने आपके कोटा स्थित “आयुर्वेदिक न्यूरो हॉस्पिटल एंड रिसर्च सेंटर कोटा” में आकर चिकित्सकीय सेवाओ का लाभ ले रोग मुक्त होकर इस विधा को देश विदेश में आम जन - जन तक पहुचाएं जाने की आवश्यकता पर जौर दिया।

5. डॉ.मनोज शर्मा द्वारा सन - 2014 से अब तक कुल 43 ( तैतालिस ) निःशुल्क आयुर्वेदिक चिकित्सा शिविरों का आयोजन किया गया है। जिनमें आयुर्वेद विभाग राजस्थान सरकार द्वारा आयोजित 24 ( चौबीस ) शिविरों एवं अन्य समाज सेवी संगठनो एवं संस्थाओ के साथ मिलकर 29 ( उन्नतीस ) शिविरों का आयोजन किया है जिसमें आपने अपने द्वारा इजाद की गयी आयुर्वेदिक न्यूरो थेरेपी से प्रशिक्षित चिकित्सको व थेरेपिस्टों के साथ मिलकर लगभग 2,20,829 (दो लाख बीस हजार आठ सौ उन्नतीस ) रोगियों को अपनी विशिष्ठ सेवा से लाभान्वित करते हुए हजारों गम्भीर व्याधितो को नया जीवन प्रदान कर चुके है।

6. डॉ मनोज शर्मा को आपके द्वारा किये गये विशिष्ठ चिकित्सकीय सेवा कार्य के लिए विभिन्न स्तरों व जगहों पर सम्मानित भी किया जा चुका है, वह निम्न प्रकार है -

i. डॉ. मनोज शर्मा को राष्ट्रीय आयुर्वेद विद्यापीठ ( भारत सरकार के आयुष मंत्रालय के अधीन एक स्वायत संगठन ) द्वारा अपनी विधा का प्रशिक्षण आयुर्वेद चिकित्सकों को देने के उद्देश्य से “ राष्ट्रीय गुरु ” की उपाधि से अलंकृत करते हुए ( गुरु शिष्य परम्परा ) से प्रशिक्षण दिए जाने हेतु सन 2019 - 20 से अधिकृत किया गया है ।

ii. डॉ. मनोज शर्मा को सोलापुर महाराष्ट्र में 100 प्रशिक्षित चिकित्सको और 150 स्वयं सेवक सहयोगियो के साथ मिलकर चिकित्सा शिविर का आयोजन कर 12523 रोगियों को रिकॉर्ड लाभ प्रदान करने का सौभाग्य प्राप्त है, जिसपर आपका यह प्रयास “ एशिया बुक ऑफ रिकॉर्ड ” में 2 अप्रेल 2020 में दर्ज किया गया एवं यही प्रयास “ इंडिया बुक ऑफ रिकॉर्ड ” में 14 मार्च 2020 में दर्ज किया गया।

iv.डॉ. मनोज शर्मा को 94.3 माय एफ एम एवं वाइब्रेंट एकेडमी द्वारा “ आंत्रप्रेन्योर एक्सीलेंस अवार्ड - 2021” से भी सम्मानित किया गया है ।

iv.डॉ. मनोज शर्मा को 94.3 माय एफ एम एवं वाइब्रेंट एकेडमी द्वारा “ आंत्रप्रेन्योर एक्सीलेंस अवार्ड - 2021” से भी सम्मानित किया गया है ।

7. डॉ मनोज शर्मा ने अपनी इस विधा से देश एवं प्रदेश के अति विशिष्ठ व्यक्तियों को भी गम्भीर व्याधियों का उपचार कर स्वास्थ्य लाभ प्रदान किया है वह भी दृष्टव्य है -

i. श्रीमान श्रीपद यशो नायक जी (केन्द्रीय मंत्री भारत सरकार )

ii. श्री मान सी. पी. जोशी ( सांसद चित्तोडगढ )

iii.श्री मान मनोहर अजगांवकर ( खेल मंत्री गोवा सरकार )

iv. श्री मान स्व. मनोहर पर्रीकर ( पूर्व गोवा मुख्यमंत्री एवं पूर्व रक्षा मंत्री भारत सरकार )

v. श्री मति फाल्गुनी रजनी ( अभिनेत्री भाभी जी घर पर है )

vi. श्री मान अशोक त्यागी ( अभिनेता )

vii. श्री मान सुधाकर जी - वरिष्ठ राज नेता प्छब्